अंतरराष्ट्रीय सौर सेल गठबंधन एवं यूएनडीपी के मध्य सौर उर्जा का प्रसार करने के लिए सहयोग हेतु घोषणा

International-Solar-Alliance22 अप्रैल 2016 को अंतरराष्ट्रीय सौर गठबंधन की अंतरिम प्रशासनिक शाखा एवं संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम (यूएनडीपी) ने  सौर उर्जा के विश्व भर में प्रसार हेतु एक घोषणा जारी की. 

अंतरराष्ट्रीय सौर गठबंधन द्वारा यूएन मुख्यालय न्यूयॉर्क में यह घोषणा  की गयी. अंतरराष्ट्रीय सौर गठबंधन के मुख्यालय गुडगाँव स्थित ग्वालपहाड़ी पर निर्माणाधीन है 

इस घोषणा के प्रमुख बिंदु
•    यूएनडीपी कार्यक्रमों और आईएसए देशों में चल रहे विभिन्न सौर ऊर्जा परियोजनाओं के साथ सहयोग एवं विकास कार्यो में सहयोग किया जायेगा.
•    सौर ऊर्जा के क्षेत्र में चल रहे वैश्विक और क्षेत्रीय प्रयासों के साथ पूरक संबंधों का निर्माण किया जायेगा.
•    कार्यक्रम और तकनीकी विशेषज्ञता में सामरिक सहयोग तथा संयुक्त राष्ट्र के वृहद नेटवर्क में अधिक से अधिक लोगों को जोड़ना.
•    ज्ञान प्रबंधन प्रणाली की स्थापना के लिए इलेक्ट्रॉनिक नेटवर्क अथवा ई-पोर्टलों की सहायता से साझा करने, सृजन और प्रबंधन के लिए कार्य करना.
•    आईएसए संस्थागत संरचना के विकास को मजबूत बनाने, एवं प्रशिक्षण कार्यक्रम के समर्थन के माध्यम से क्षमता विकास के प्रयासों में वृद्धि करना.

उपेन्द्र त्रिपाठी, सचिव, नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय तथा आईएसए सेल के अध्यक्ष ने संयुक्त राष्ट्र के प्रतिनिधि के सहित घोषणा की.

इससे पहले 25 जनवरी 2016 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद ने गुडगाँव स्थित ग्वालपहाड़ी पर अंतरराष्ट्रीय सौर गठबंधन के मुख्यालय की नींव रखी.

अंतरराष्ट्रीय सौर गठबंधन
•  संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन बैठक (सीओपी 21) के दौरान भारत एवं फ़्रांस ने संयुक्त रूप से 30 नवम्बर 2015 को इसकी स्थापना की थी.
•  यह भारत का पहला आन्तरिक एवं अंतरराष्ट्रीय संगठन है जिसमें 121 देश शामिल हैं तथा इसका मुख्यालय भारत में है.
•  इससे सतत विकास एवं उर्जा सुरक्षा क्षेत्र में संयुक्त प्लेटफार्म तैयार किया जाता है.
•  इससे दूर-दराज के क्षेत्रों में भी उर्जा की बढती मांग को पूरा किया जा सकता है तथा जीवनस्तर में सुधार लाया जा सकता है.

Leave a Comment

Your email address will not be published.