नागरिक उड्डयन क्षेत्र में भारत और सिंगापुर के मध्य समझौते को कैबिनेट की मंजूरी

प्रधानमंत्री नरेन्द्र  मोदी की अध्याक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने 6 जनवरी 2016 को नागरिक उड्डयन के क्षेत्र में भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण और सिंगापुर सहयोग उद्यम के बीच नवंबर, 2015 में हस्ताक्षरित सहमति पत्र पर हस्ताक्षर को अपनी पूर्वव्यापी मंजूरी प्रदान की.

इस एमओयू पर प्रधानमंत्री की सिंगापुर यात्रा के दौरान हस्ताक्षर किए गए थे.

इस एमओयू का उद्देश्य नागरिक उड्डयन के क्षेत्र में पारस्परिक सहयोग कायम करना है, जो आरंभ में जयपुर और अहमदाबाद हवाई अड्डों को कवर करेगा.
इस सहयोग के दायरे में आगे चलकर अन्य हवाई अड्डे भी पारस्परिक सहमति से आ जाएंगे.

ये क्षेत्र हैं

• मास्टर योजना और डिजाइन
• यातायात का विकास
• वाणिज्यिक विकास
• सेवा की गुणवत्ताऔ में सुधार
• प्रशिक्षण एवं विकास
• कार्गो संचालन एवं प्रबंधन
• रखरखाव, मरम्मत एवं आमूल चूल परिवर्तन
• परिचालन एवं प्रबंधन
• आपसी सहमति से कोई भी अन्यं क्षेत्र

दुनिया के सर्वोत्तकम प्रबंधन वाले हवाई अड्डों में से एक हवाई अड्डा सिंगापुर की सरकार के ही स्वा मित्व  है, जो पिछले कई वर्षों से अपनी रैंकिंग को बरकरार रखने में सफल रहा है.

Leave a Comment

Your email address will not be published.