‘9वें मॉस्को सैंड स्कल्प्चर चैंपियनशिप 2016’ का स्वर्ण भारत ने जीता

46400df9220c2fc92b47bf4929ddf883मशहूर अंतरराष्ट्रीय कलाकार सुदर्शन पटनायक ने 27 अप्रैल 2016 को मॉस्को में रेत पर खूबसूरत कृतियां उकेरने वाले  प्रतियोगिता हेतु आयोजित ‘9वें मॉस्को सैंड स्कल्प्चर चैंपियनशिप 2016’ में भारत के लिए स्वर्ण पदक हासिल किया.

  • यह मेडल सैंड ऑफ फेस्टिवल के निदेशक पावेल मीनीलकोव ने प्रदान किया.
  • यह प्रतियोगिता 21 से 27 अप्रैल तक रूस के मास्को के कोलोमेंशको में आयोजित किया गया था.
  • सुदर्शन पटनायक ने यह पुरस्कार अपनी 15 फीट ऊंची अहिंसा और शांति का संदेश देती महात्मा गाँधी की कलाकृति के लिए जीता है. इस प्रतियोगिता में दुनियाभर के 20 सैंड आर्टिस्ट ने भाग लिया था.

msid-52028621,width-300,resizemode-4,Sudarsan-Pattnaikसुदर्शन पटनायक के बारे मे:

सुदर्शन का जन्म 15 अप्रैल 1977 को ओडिशा के पुरी जिले में हुआ था.

• उन्होंने अभी तक 50 से ज्यादा अंतर्राष्ट्रीय रेत शिल्प प्रतियोगिताओं मे हिस्सा लेने के साथ कई अन्तर्राष्ट्रीय अवार्ड भी जीत चुके है.

• उनको कला के क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान के लिए 2014 में पद्मश्री से सम्मानित किया गया था.

• 2008 में ओडिशा सरकार के द्वारा दिया जाने वाला ‘सारला’ अवार्ड से भी उनको नवाज़ा गया.

• सुदर्शन रेत-कलाकारी में 9 बार लिम्का बुक ऑफ़ रिकार्ड्स में अपना नाम दर्ज करा चुके हैं.

• वे पुरी में ‘सुदर्शन सैंड आर्ट इंस्टिट्यूट’ नाम से एक संस्था चलाते हैं, जहां पूरी दुनिया से बच्चे रेत-कला सीखने आते हैं.

114314348_65210e859e_o• वह ओडिशा अंतरराष्ट्रीय रेत-कला उत्सव के ब्रांड  एम्बैसेडर भी हैं.

18oriSANDa_213858

Leave a Comment

Your email address will not be published.