Origin of Ganga River (गंगा नदी – उदगम) : सामाजिक सांस्कृतिक एवं आर्थिक महत्त्व

HOLY RIVER GANGA Ganges River, great river of the plains of the northern Indian subcontinent. Although officially as well as popularly called the Ganga in Hindi and in other Indian languages, internationally it is known by its conventional name, the Ganges. From time immemorial it has been the holy river of Hinduism. For most of its course it […]

Read more

आधुनिक भारत का इतिहास भाग -7 (गवर्नर, गवर्नर जनरल तथा वायसराय-भाग 1)

 Governor, Governor General and Viceroy गवर्नर, गवर्नर जनरल तथा वायसराय बंगाल के गवर्नर लार्ड क्लाइव (1757 ई. से 1760 ई.) लार्ड क्लाइव को भारत मेँ अंग्रेजी शासन का संस्थापक माना जाता है। ईस्ट इंडिया कंपनी ने क्लाइव को 1757 में बंगाल का गवर्नर नियुक्त किया। क्लाइव ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा भारत मेँ नियुक्त होने वाला […]

Read more

आधुनिक भारत का इतिहास भाग -6 (1857 की क्रान्ति की वीरांगनाएं : जीवन वृत्त)

रानी लक्ष्मी बाई झांसी की रानी लक्ष्मी बाई का जन्म वाराणसी में 19 नवम्बर 1835 में हुआ था। बचपन में उनका नाम मणिकर्णिका था। सब उनको प्यार से मनु कह कर पुकारा करते थे। उनके पिता का नाम मोरपंत व माता का नाम भागीरथी बाई था जो धार्मिक प्रवृत्ति की महिला थी। उनके पिता ब्राह्‌मण […]

Read more

आधुनिक भारत का इतिहास भाग – 2 (औपनिवेशिक शक्तियों का उदय एवं पतन : समीक्षा )

पुर्तगाली उपनिवेश की स्थापना पुर्तगाली पहले यूरोपीय थे जिन्होंने भारत तक सीधे समुद्री मार्ग की खोज की । 20 मई 1498 को पुर्तगाली नाविक वास्को-डी-गामा कालीकट पहुंचा, जो दक्षिण-पश्चिम भारत में स्थित एक महत्वपूर्ण समुद्री बंदरगाह है। स्थानीय राजा जमोरिन ने उसका स्वागत किया और कुछ विशेषाधिकार प्रदान किये। भारत में तीन महीने रहने के […]

Read more

आधुनिक भारत का इतिहास भाग – 5 (1857 का विद्रोह )

Revolt of 1857 1857 का भारतीय विद्रोह, जिसे प्रथम भारतीय स्वतंत्रता संग्राम, सिपाही विद्रोह और भारतीयविद्रोह के नाम से भी जाना जाता है ब्रितानी शासन के विरुद्ध सशस्त्र विद्रोह था। यह विद्रोह दो साल तक भारत के विभिन्न क्षेत्रों में चला। इस विद्रोह की शुरुआत छावनीं क्षेत्रों में छोटी झड्पों तथा आगजनी से हुई परन्तु […]

Read more

आधुनिक भारत का इतिहास भाग -4 (ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी और बंगाल के नवाब-2)

भारत मे अंग्रेजों का आगमन और सत्ता पर अधिकार महत्त्वपूर्ण तथ्य : 1. 20 मई, 1498 ई. में वास्कोडिगामा ने भारत के पश्चिमी तट पर स्थित कालीकट बंदरगाह पहुंचकर भारत एवं यूरोप के बीच समुद्री मार्ग की खोज की। 2. 1505 ई. में फ्रांसिस्को द अल्मेडा भारत में प्रथम पुर्तगाली वायसराय बनकर आया। 3. 1509 ई. […]

Read more

आधुनिक भारत का इतिहास भाग -3 (ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी और बंगाल के नवाब)

 The British East India Company and the Nawab of Bengal   भारत मे अंग्रेजो का आगमन 16वीं – 17 वीँ शताब्दी मेँ पुर्तगाल, हालैंड, फ्रांस, डेनमार्क और इंग्लैण्ड आदि यूरोपीय देशो के लोग व्यापारी बन कर भारत आये। लेकिन इनमेँ अंग्रेज सर्वाधिक सफल रहे। भारत आने वाला प्रथम अंग्रेज व्यक्ति जॉन मिल्डेन हॉल था, वह […]

Read more

आधुनिक भारत का इतिहास भाग -1 (मुग़ल साम्राज्य का पतन)

Decline of the Mughal Empire“प्रारम्भिक सह मुख्य परीक्षा “ 1707 मेँ औरंगजेब की मृत्यु के बाद भारतीय इतिहास मेँ एक नए युग का पदार्पण हुआ, जिसे ‘उत्तर मुगल काल’ कहा जाता है। औरंगजेब की मृत्यु के बाद मुग़ल साम्राज्य का पतन भारतीय इतिहास की एक महत्वपूर्ण घटना है। इस घटना ने मध्यकाल का अंत कर […]

Read more

भारतीय संविधान भाग -23 (भारत का नियंत्रक-महालेखा परीक्षक)

 Comptroller and Auditor General of India – CAG भारत के नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (‘कंट्रोलर एण्ड ऑडिटर जनरल’ अर्थात ‘नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक’) को आम तौर पर ‘कैग’ के नाम से जाना जाता है। भारतीय संविधान के अनुच्छेद 148 में ‘कैग’ का प्रावधान है, जो केंद्र व राज्य सरकारों के विभागों और उनके द्वारा नियंत्रित […]

Read more

भारतीय संविधान भाग – 22 (संसदीय समितियां)

Parliamentary Committees संसद के कार्यों में विविधता तो है, साथ ही उसके पास काम की अधिकता भी रहती है। चूंकि उसके पास समय बहुत सीमित होता है, इस‍लिए उसके समक्ष प्रस्‍तुत सभी विधायी या अन्‍य मामलों पर गहन विचार नहीं हो सकता है। अत: इसका बहुत-सा कार्य समितियों द्वारा किया जाता है। संसद के दोनों […]

Read more
  • 1
  • 2
  • 4